Latest News

आईडीपी से आइलैट्स करने वाले फिलहाल नहीं जा पाएंगे कनाडा! पढ़िए क्यों?

By JNN/Canada

Published on 27 Nov, 2018 05:38 PM.

जय हिन्द ओवरसीज न्यूज/टोरैंटो (कनाडा)। स्टडी वीजा लेकर कनाडा जा चुके व जाने को तैयार छात्रों के लिए वहां से एक नींद से जगाने वाली तथा छात्रों से मोटी रकम लेकर उनका  फर्जी बेस बनाने वालों के लिए बुरी खबर आई है। यह खास खबर खासकर उन छात्रों के लिए है जिन्होंने आई.डी.पी. के जरिए आईलैट्स का टैस्ट क्लीयर किया है। कुल मिलाकर खबर यह है कि जनवरी 2०19 में स्टडी वीजा पर कनाडा टेकऑफ करने को तैयार बैठे स्टूडैंट्स को आईलैट्स का टैस्ट दोबारा देना होगा। वहीं, पहले से वहां पढ़ रहे स्टूडैंट्स को वापस न भेजकर वहीं दोबारा टैस्ट या ट्रेनिंग दी जाएगी। दरअसल, कनाडा के कालेज नियाग्रा ने अपने रिकार्ड में भारतीय स्टूडैंट्स की प्रगति रिपोर्ट का मूल्यांकन करवाया था। हुआ यह कि बीते काफी समय से भारत से आने वाले स्टूडैंट्स की अंग्रेजी भाषा को लेकर रिपोर्ट में गिरावट दर्ज हो रही थी। कारण भी यह सामने आया कि भाषा समझ में न आने के कारण उनकी स्टडी में गिरावट हो रही है। अब चूंकि यह नियाग्रा कालेज सरकारी मान्य है इसलिए इसकी खुद की भी रैंकिंग होती है। ऐसे में यदि यहां पढ़ने वाले स्टूडैंट्स का रिजल्ट खराब होगा तो उसका भी नाम खराब होना तय है। कालेज ने रैंकिंग को खराब होने से बचाने के लिए इसके कारण खोजने के लिए ही यह मूल्यांकन करवाया। सामने आया कि भारत से स्टडी वीजा से वहां आए वो सभी स्टूडैंट्स पढ़ाई में कमजोर है जिन्होंने आईडीपी से आइलैट्स क्लीयर किया था। अत: फैसला लिया गया कि अब जो स्टूडैंट्स वहां पढ़ाई कर रहे हैं, उनके लेवल को सुधारने पर जोर दिया जा रहा है, वहीं अन्य आदेश में यह कहा गया है कि इसी जरिए से टैस्ट क्लीयर करके वहां आने के लिए तैयार बैठे स्टूडैंट्स को अब एक नया टैस्ट क्लीयर करना होगा। विफल रहने वाले स्टूडैंट्स की एडमिशन रद्द करके अंबैसी को सूचित कर दिया जाएगा। कालेज ने अपने इस फैसले बारे में अंबैसी को भी सूचित कर दिया है ताकि आगे की कार्रवाई सरलता से करवाई जा सके। अत: इससे स्पष्ट है कि आने वाले समय में आईडीपी से टैस्ट पास करने वाले स्टूडैंट्स के भविष्य पर सवालिया निशान लग गया है। गौरतलब है कि आईडीपी पर पहले भी बिना लाइसैंस लिए स्टडी वीजा का काम करने को लेकर गंभीर आरोप लगते रहे हैं। इसी बीच आईडीपी की ओर से जुगाड़ भिड़ाकर बच्चों को आइलैट्स क्लीयर करवाने की खबरेें भी सुनने को मिल चुकी है।

इन अपुष्ट आरोपों को लेकर आईडीपी के संचालकों से संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन अभी तक उनका पक्ष सामने नहीं आया है। न्यूज नैटवर्क की ओर से उनके पक्ष का इंतजार किया जा रहा है जिसके लिए वो किसी भी समय हम से संपर्क या संदेश देकर बात कर सकते हैं। उनके इलावा 

3993 Views

Reader Reviews

Please take a moment to review your experience with us. Your feedback not only help us, it helps other potential readers.


Before you post a review, please login first. Login
Related News
ताज़ा खबर
e-Paper